माता तेरी पार्वती पिता महादेवा,
सब देवो से पहले हो तेरी पूजा,
दिनिया दीवानी हो गयी गौरा के लाल की,
जग में मूरत है प्यारी गणपती भगवन की…..

एक दंत दयावंत चार भुजा धारी,
विघ्नो को हरने वाले देव सुख कारी,
दुनिया दीवानी हो गई मूषक सवार की,
जग में मूरत है प्यारी गणपती भगवन की…..

माथे पे सिन्दूर सोहे लड्डुअन का भोग लगे,
हरी हरी तूब गजानन चरणों में तेरे सजे,
दुनिया दीवानी हो गयी गणपति सरकार की,
जग में मूरत है प्यारी गणपती भगवन की…..

सिद्धि के दाता तुम हो, रिद्धि के दाता तुम हो,
शुभ को करते तुम हो, लाभ को बढ़ाते तुम हो,
आओ सब महिमा गाये गजमुख अवतार की,
जग में मूरत है प्यारी गणपती भगवन की…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह