जय देवा जय जय गणेशा जय देवा
जय देवा जय जय गणेशा जय देवा
मिलती रहे तेरी जन्म जन्म युही हम भगतो को सेवा
जय देवा जय जय गणेशा जय देवा

दुःख हरता है गणपति बाबा जलवा बड़ा है तेरा,
उस जीवन की खुशिया तुझसे तू करतार है मेरा
अपनी किरपा दृष्टि हमेशा रखना मुझपे देवा
जय देवा जय जय गणेशा जय देवा

मंगल मूर्ति शुभ मंगल करो आ के कार्य हमारे
मंगल घड़ियाँ मन व्याकुल तब पड़ी चरण है तुम्हारे,
गोरी नंदन भोग लगा तुम्हे फूल चडा फल मेवा
जय देवा जय जय गणेशा जय देवा

विघन विनाशक हे घन नायक देव तू पेहला नंबर,
तेरे होते कोई मुसीबत आ नही सकती हम पर
केहता कुंदन बाँध के अपने हाथो में ये कलेवा,
जय देवा जय जय गणेशा जय देवा

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह