सिद्धियों के लिए श्री गजानंद की,
साधना कर रहे हैं हम,
वंदना कर रहे है हम॥

सिद्धियों के सदन, ज्ञान का दान दे,
फिर ना भूले कभी, ऐसा वरदान दे,
निर्धनो के लिए, जो दिया है वही,
कामना कर रहे हैं हम,
वंदना कर रहे है हम ॥

धुप तुम पर चढ़े, जन करे आरती,
प्रेम पूजा तेरी, हम करे भारती,
निर्धनों के लिए, जो दिया है वही,
भावना कर रहे है हम,
वंदना कर रहे है हम ॥

सिद्धियों के लिए श्री गजानंद की,
साधना कर रहे हैं हम,
वंदना कर रहे है हम……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह