आला रे आला गणपति मौर्या

डम डम डम डमरू बाजे,
ठुमक ठुमक है गणपति नाचे,
अरे नाचे सांग गण पिशाज़,
कि मेरे घर आएंगे बप्पा आज,
के मेरे घर आएंगे देवा आज……

चतुर्थी का दिन है प्यारा,
सजने लगा संसार सारा,
ढोल नगाड़े बचते कितने साथ,
कि मेरे घर आएंगे देवा आज,
के मेरे घर आएंगे गणपति आज…….

मोदक मेवा से लगता है,
बप्पा का भंडारा,
प्रथम पूजे जिसको सारा संसार,
कि मेरे घर आएंगे बप्पा आज,
के मेरे घर आएंगे देवा आज……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी

संग्रह