बाला जी मोसे यू बोले यू बोले तने मालामाल करा दूं….

बढ़िया सी तेरी कोठी बनवा दूं,
शीशे की वा में खिड़की लगवा दूं,
फिर बाबा यू बोले यू बोले मेरा मीठा मीठा भोग,
बाला जी मोसे यू बोले यू बोले तने मालामाल करा दूं….

तेरे अंगना में भूरी भैंस बंधा दूं,
दूध दही की मौज करा दूं,
फिर बाबा यू बोले यू बोले मेरी देसी घी की ज्योत,
बाला जी मोसे यू बोले यू बोले तने मालामाल करा दूं….

तेरे बेटे की नौकरी लगा दूं,
हर महीने उसकी तनखा बढ़ा दूं,
फिर बाबा यू बोले यू बोले मेरा सवामणि का भोग,
बाला जी मोसे यू बोले यू बोले तने मालामाल करा दूं….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह