खुशियों से झूमे जग सारा जन्मे हैं हनुमान प्यारे,
महलों में गूंजे जयकारे जन्मे हैं हनुमान प्यारे……….

चैत मास पूनम अलबेला,
चतुर्दशी तिथि मंगल बेला,
भोर के चमके हैं तारे के जन्मे हैं हनुमान प्यारे………..

मां अंजनी का लाल है जाए,
राजा केसरी अति हर्ष आए,
बाजे हैं शंख नगाड़ा जन्मे हैं हनुमान प्यारे……

रेशम की डोरी चंदन का पलना,
जुग जुग जीवे अंजनी को लालना,
जग में करे उजियारे जन्मे हैं हनुमान प्यारे…………

कोटी सूर्य सा मुखड़ा चमके,
अंग अंग से अतिबल या को दमके,
चंचल नैना मतवाले जन्मे हैं हनुमान प्यारे………

रुद्र ग्यारहवें शिव अवतारी,
मोहक छवि पर जग बलिहारी,
रूप कपीस का धारे के जन्मे हैं हनुमान प्यारे…………..

चारों दिशाएं मंगल गांमें,
सुर नर नारी दर्शन पावै,
सजी है गांव चौबारे के जन्मे हैं हनुमान प्यारे…

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह