प्रभु राम का सेवक हु,
हनुमान का सेवक हु,
बाला जी अब ध्यान करो,
भक्तो का कल्याण करो,
भगवान का सेवक हु,
बाला जी अब ध्यान करो,
भक्तो का कल्याण करो……

मेरी सांसों की माला ले प्रभु तेरा नाम,
तेरी पूजा तेरा वंदन करू सुबह शाम,
तेरे चरणों का सेवक हु,
बाला जी अब ध्यान करो,
भक्तो का कल्याण करो……

जीवन नईया भटक रही है, मंजिल कैसे पाउ,
तेरी छैया मिले तो बाबा खुशियाँ भी मैं पाउ,
डूबी नईया का सेवक हूँ,
बाला जी अब ध्यान करो,
भक्तो का कल्याण करो……

तू हसाये, तू रुलाये, सब तुझपे ही छोड़ा है,
प्रेम का नाता सज्जन ने बाबा तुमसे जोड़ा है,
तेरे दर का सेवक हूँ,
बाला जी अब ध्यान करो,
भक्तो का कल्याण करो……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा
कूर्म जयंती

गुरूवार, 23 मई 2024

कूर्म जयंती
नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी

संग्रह