श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान,
संकट संताप सभी मिटे,
हुआ सदा उसका कल्याण,
वीर महावीर बजरंगी के,
बसे ह्रदय सिया राम,
बिगड़ी सदा बनाने वाले,
जय जय पवन सुत हनुमान,
श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान…..

निर्धन को धनवान बनाते,
और निर्बल को बलवान,
बिन मांगे उसको दे देते,
लगाता चरणों में जो ध्यान,
श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान…..

नैया उसकी पार लगाते,
पतवार लेते जिसकी थाम,
लेने शरण जो चरणों में आता,
उसे तो मिल जाते चारों धाम,
श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान…..

राजीव आस यही मेरे मन की,
सदा जपता रहूं हनुमान,
हो रहूं दीवाना सदा उनका,
जब तक घट में जान,
श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान….

अंत काल जब आए,
और छूटे तन से प्राण,
चरण शरण में मिले ठिकाना,
वही मेरा स्वर्ग सा धाम,
श्री बालाजी के चरणों में,
लिया रहना जिसने ठान…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह