हारे के सहारे आप हो मेरे खाटू लखदातार,
सरन में थारे आगयो बाबा रख दो मारी लाज,
मैं तो रोज रोज थारा ही गुन गाऊ खाटू वाले जी,
हेलो मारो समलो जी, लखदातार जी हेलो….

तीन बाण धारी श्याम तीर ना चलाओ,
दिल मेरा बोले श्याम जल्दी बुलाओ ना,
माने पल- पल थानी याद गणी आवे खाटू वाले जी हेलो…..

हारे के सहारो बाबा तू ही एक मारो,
दुनिया मद मारो श्याम कोई ना सहारा,
ओ थारे सरणा में आयो हु दोई कर जोड़ खाटू वाले जी हेलो….

हर ग्यारस ने थारे भीड़ भारी लागे,
भगत करे जय कारे, शीश दानी न्यारे,
बाबा खाटू री नगरी में नाम गूंजे लखदातार जी हेलो…..

कलयुग में श्याम थांको शीश पुजावे,
दिन दुखी आवे द्वार सहारों बन जावे,
शीश दानी जग में नाम अमर कहावे खाटू वाले जी हेलो……

थारो भजन श्याम सबने सुनाऊ,
मन में उठी लगन द्वार में आऊ,
धरम आपरा सरना में गुण गावे खाटू वाले जी हेलो…….

जय श्री श्याम प्यारे की

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह