खाटू के बाबा श्याम जी, मेरी राखोगे लाज,
मीरा के घनश्याम जी, मेरी राखोगे लाज….

टेर सुनो सांवलसाह मेरी, धीर बंधाओ करो ना देरी,
दुख हर्ता थारो नाम जी, मेरी राखोगे लाज,
खाटू के बाबा श्याम जी….

भीख दया की कब दोगे, मेरी सुध प्रभु कब लोगे,
पुजू में थारा पाव जी, मेरी राखोगे लाज,
खाटू के बाबा श्याम जी….

‘काशी’ चरना को चेरो, जीवन सफल बना मेरो,
था बिन कित आराम जी, मेरी राखोगे लाज,
खाटू के बाबा श्याम जी….

एक भरोसो थारो हे, तू ही पत राखनवारो हे,
छोटो सो मेरो काम जी, मेरी राखोगे लाज,
खाटू के बाबा श्याम जी….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह