आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका,
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका…..

विनती स्वीकार हो न हो, दर पे पड़ा रहूँ माँ,
मैं दोनों हाथ जोड़कर सन्मुख खड़ा रहूँ माँ,
जाऊं कहाँ मैं छोड़कर..
जाऊं कहाँ मैं छोड़कर दरबार आपका,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका…..

आया हूँ तेरे द्वार पर मुझको संभालिये,
दर्शन की आस दिल में है, खाली ना टालिए,
ईक रोज छोड़ जाएंगे..
ईक रोज छोड़ जाएंगे संसार आपका,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका…..

मैया जी तेरे द्वार पर कोई कमी नही,
जो तेरे दर पे है मैया ओर कही नही,
मेरा यही है आसरा..
मेरा यही है आसरा दरबार आप का,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका……

माँ जीवन की डोर बंध गयी, अब तेरे नाम से,
पहचान मेरी बन गई अब तेरे धाम से,
हो जाये मैया मुझ पे भी..
हो जाये मैया मुझ पे भी उपकार आपका,
आँखों को इंतज़ार है मैया जी आपका……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह