मईया रानी करदो किरपा मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे,
अलख जगाई आके द्वार तेरे पे,
ममता की करदो तुम छाव मुझपे,
मईया रानी करदो किरपा मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे…….

आये तेरे दर पे थक हार के,
बेड़ा मेरा डूब रहा मईया तार दे,
हम ने तो… लगाया जीवन दाव तुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे,
मईया रानी करदो किरपा मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे…….

जग का सताया जाऊ किस दर माँ,
सिवा तेरे दर के ना दर कोई माँ,
अपनों ने… किये है क्या क्या घाव मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे,
मईया रानी करदो किरपा मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे…….

तू भी मुख मोड़ेगी तो मर जाऊँगा,
रख चरणों में ‘हर्ष’ तर जाऊँगा,
बेरुखी का… कर ना वर्ताव मुझसे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे,
मईया रानी करदो किरपा मुझपे,
रखी है उम्मीद बड़ी तुझपे…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह