प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा……..

केसर के तिलक लगाए मेरे राम जी,
लाल सिन्दूर हनुमाना बोलो जय सिया रामा,
प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा…….

ऊँचे सिंघासन पे बैठे मेरे राम जी,
चरनो में बैठे हनुमाना बोलो जय सिया रामा,
प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा…..

पीला पीताम्बर पहने मेरे रामजी ,
लाल लंगोट हनुमाना बोलो जय सिया रामा,
प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा…….

मेवा और मिश्री का भोग मेरे राम जी,
लड्डून का भोग हनुमाना बोलो जय सिया रामा,
प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह