तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो,
तुम हमारी ही रहोगी मां मेरी अम्बे,
हम तुम्हारे थे मैया जी, हम तुम्हारे हैं,
हम तुम्हारे ही रहेंगे माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो…

तुम्हें छोड़ सुन मैया प्यारी कोई न मीत हमारा,
किसके द्वार पे जाय पुकारूँ और न कोई हमारा,
अब तो आकर बाह पकड़ लो माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो,
तुम हमारी ही रहोगी माँ मेरी अम्बे,
हम तुम्हारे थे मैया जी, हम तुम्हारे हैं,
हम तुम्हारे ही रहेंगे माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो…….

तेरे कारण सब जग छोड़ा तुम संग नाता जोड़ा,
एक बार मां हंस कर कह दो तू मेरी मैं तेरा,
सांची प्रीत की रीत निभा दो मां मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो,
तुम हमारी ही रहोगी माँ मेरी अम्बे,
हम तुम्हारे थे मैया जी, हम तुम्हारे हैं,
हम तुम्हारे ही रहेंगे माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी तुम हमारी हो…….

दास की ये बिनती सुन लीजे ओ मेरी मैया प्यारी,
आखिरी आस यही जीवन की पूर्ण करने हमारी,
एक बार हृदय से लगा लो माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो,
तुम हमारी ही रहोगी माँ मेरी अम्बे,
हम तुम्हारे थे मैया जी, हम तुम्हारे हैं,
हम तुम्हारे ही रहेंगे माँ मेरी अम्बे,
तुम हमारी थी मैया जी, तुम हमारी हो…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह