नर तन मिले न बराम बराम,
राम गुन गाले मनवा,
नर तन मिले न बराम बराम,
राम गुन गाले मनवा….

रामा राम नाम की,
लूट है लूट सके तो लूट,
अंत काल पछताएगा रे,
प्राण जायेगे छूट,
नर तन मिले न बराम बराम,
राम गुन गाले मनवा,
नर तन मिले न बराम बराम
राम गुन गाले मनवा….

रामा चित्रकूट के घाट पर,
भई संतन की भीड़,
तुलसीदास चंदन घिसे रे,
तिलक करे रघुवीर,
नर तन मिले न बराम बराम,
राम गुन गाले मनवा,
नर तन मिले न बराम बराम,
राम गुन गाले मनवा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह