मेरी सुनियो भोलेनाथ मेरी सुनियो भोलेनाथ,
धन दौलत मुझे कुछ ना चाहिए जोड़ू दोनों हाथ,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

छोटा सा एक बंगला चाहिए घूमन को एक कार,
घुम घाम जब घर पर आऊं, आकर चाहिए चार,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

दाल भात का भोजन चाहिए ऊपर घी की धार,
पूड़ी कचौड़ी कुछ ना चाहिए नसीब लच्छेदार,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

जरीदार की साड़ी चाहिए ऊपर चुनरी लाल,
गोरी गोरी भैया हरी हरी चूड़ियां अमर रहे सुहाग,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

पुत तो सबूत चाहिए बहू कुलवंती नाथ,
आए गए का मान रखे वह दोनों कुल की लाज,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

छोटा सा एक पोता चाहिए सिर पर रख दो हाथ,
वेद डॉक्टर घर ना आवे जिए हजारों साल,
मेरी सुनियो भोलेनाथ…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह