हरि का नाम अमृत है हमें पीना नहीं आता,
हमें पीना नहीं आता हमें पीना नहीं आता,
हरि का नाम अमृत है….

मानुष अनमोल चोले को तरसते देवता भी हैं,
प्रभु ने जिंदगी दी है हमें जीना नहीं आता,
हरि का नाम अमृत है….

कमाई बाप की करते नहीं संतोष जीवन में,
बचाते हैं हरि हमको हमें बचना नहीं आता,
हरि का नाम अमृत है….

बहुत उपदेश देते हैं सुधरती है नहीं दुनिया,
हमें कहना तो आता है मगर करना नहीं आता,
हरि का नाम अमृत है….

जरा सोचो जरा समझो जरा मन में विचार हो तुम,
भटकना होगा नहीं जग में शरण में हरी कि तू आजा,
हरि का नाम अमृत है…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह