आज मेरी मैया को किसने सजा दिया,
किसने सजा दिया किसने सजा दिया,
जिसने भी जय हो जिसने भी,
जिसने भी देखा कहा दुल्हन बना दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

चंदा जैसा मुखड़ा माँ का बिंदिया करे उजाला रे,
किसने ये जय हो,
किसने ये आज माँ को सिंदूर लगा दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

कानों में झुमके माँ के नाक में नथनीयां है,
होठो पे लाली माँ के आँखों में कजरा है,
किसने ये जय हो,
किसने ये आज माँ को गजरा पहना दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

गले में हरवा माँ के हाथों में कंगना है,
हाथों में कंगना माँ के हाथों में मुन्दरी है,
किसने ये जय हो,
किसने ये आज माँ के हाथों को सजा दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

कमर पे तगड़ी माँ के पैरों में पायल है,
पैरों में पायल माँ के पैरों में बिछुवे है,
किसने ये जय हो,
किसने ये आज माँ को महावर लगा दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

अंगो में लहंगा माँ के अंगों में चोली है,
किसने ये जय हो,
किसने ये आज माँ को चुनरी ओढा दिया,
आज मेरी मैया को किसने सजा दिया……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह