ॐ जय स्कन्द माता, मईया जय स्कन्द माता ।
शक्ति भक्ति प्रदायिनी ll, सब सुख की दाता ll ॐ ll

कार्तिकेय की हो माता, शंभू की हो शक्ति ll मईया ll
भक्त जनों को मईया ll, देना निज भक्ति ll ॐ ll

चार भुजा अति सोहे, गोदी में है स्कन्द ll मईया ll
दया करो जग जननी ll, बालक हम मतिमन्द ll ॐ ll

शुभ्र वर्ण अति पावन, सबका मन मोहे ll मईया ll
होता प्रिय माँ तुमको ll, जो पूजे तोहे ll ॐ ll

स्वाहा स्वधा ब्रह्माणी, राधा रुद्राणी ll मईया ll
लक्ष्मी शारदे काली ll, कमला कल्याणी ll ॐ ll

काम क्रोध मद मईया, जगजननी हरना ll मईया ll
विषय विकारी यह तन मन ll, को पावन करना ll ॐ ll

नवदुर्गो में पंचम, मईया स्वरूप तेरा ll मईया ll
पाँचवे नवरात्रे को ll, होता पूजन तेरा ll ॐ ll

तूँ शिव धाम निवासिनी, महाँ विलासिनी तूँ ll मईया ll
तूँ शमशान विहारिणी ll, ताण्डव लासिनी तूँ ll ॐ ll

हम अति दीन दुखी माँ, कष्टों ने हैं घेरे ll मईया ll
अपना जान के दया कर ll, बालक हम तेरे ll ॐ ll

स्कन्द माता जी की आरती, जो कोई जन गावे ll मईया ll
कहत शिवानंद स्वामी ll, मनवांछित फल पावे ll ॐ ll

ॐ जय स्कन्द माता, मईया जय स्कन्द माता ।
शक्ति भक्ति प्रदायिनी ll, सब सुख की दाता ll ॐ ll

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती
पुत्रदा एकादशी

शुक्रवार, 16 अगस्त 2024

पुत्रदा एकादशी

संग्रह