हम आए शरण तिहारी मेरी शेरोंवाली मैया,
सारे जग को रचने वाली घट घट में बसने वाली,
तेरी लीला है न्यारी मेरी शेरोंवाली मैया….

सब देवता तुम्हें ध्यावे ब्रह्माधिक पार न पावे,
सुर नर मुनि गए बलिहारी मेरी शेरोंवाली मैया,
हम आए शरण तिहारी मेरी शेरों वाली मैया…..

तू आदिशक्ति की दाता तू सबकी भाग्य विधाता,
मां सबकी पालन हारी मेरी शेरोंवाली मैया,
हम आए शरण तिहारी मेरी शेरों वाली मैया……

जय जगदंबे जगजननी हम दास आए तेरी शरणी,
तेरा नाम बड़ा सुखदाई मेरी शेरों वाली मैया,
हम आए शरण तिहारी मेरी शेरों वाली मैया…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह