गजानन राखो लाज हमारी,
पिता तुम्हारे महादेव है पार्वती माता जी गजानन ,
गजानन राखो लाज हमारी,

सब से पहले तुम्हे बुलाये आओ ग़ज़ानन आओ,
वीगन विनायश प्रथम पूज्ये तुम बाधा विधान हटाओ,
आज वंदना करते है हम हे जग के उपकारी
गजानन राखो लाज हमारी,

मंगल दीप जला कर तुमको मोदक भोग लगाए,
और आरती करे तुम्हारी कांचल थाल सजाये,
रिद्धि सीधी संग विराजे सेवक हॉवे तुम्हारी
गजानन राखो लाज हमारी,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह