घर घर पधारो आज घजानन गोरा माँ के लाल जी
गणेश चतुर्थी आये रे भगतो गूंजे है जय जय कार रे
घर घर पधारो आज घजानन गोरा माँ के लाल जी

ढोल नगाड़े ठम ठम बाजे गली गली में छोर मचा रे
नाचो रे भगतो आओ घजानन मुस्क पे होके सवार रे
घर घर पधारो आज घजानन गोरा माँ के लाल जी

सब देवो में प्रथम मनाये लड्डू का तुम भोग लगाये,
मंगल मूर्ति मंगल करते विघनो के हरता गणेश जी
घर घर पधारो आज घजानन गोरा माँ के लाल जी

शिव गोरा के राज दुलारे रिधि सीधी के आप है प्यारे,
राजेश्वरी जय कारे लगाये जय हो तेरी घनराज जी
घर घर पधारो आज घजानन गोरा माँ के लाल जी

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह