आन पधारो गणपत जी पूरण करदो सब काज,
विच सभा के बैठया मोरी पत रखदो महाराज,
गणपति बप्पा मोरिया मंगल मूर्ती मोरिया……

रिद्धि सिद्धि के मालक तुम हो,
सबके भाग्य विधाता तुम हो,
पहले होवे पूजा हमेश जी,
तेरी जय हो जय जय गणेश जी…….

जो बांझन है संतान वो पाए,
तेरी दया से लाल खिलाये,
सबकी पूरी करते हमेश जी
अर्ज़ी पूरी करते हमेश जी,
तेरी जय हो जय जय गणेश जी…….

चार भुजा मूषक की सवारी,
चरणी लगती है दुनिया सारी,
जग में सबसे प्रथम गणेश जी,
तेरी जय हो जय जय गणेश जी….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह