सिया राम जी के चरणों के दास बाला जी,
भक्तों के सदा रहते पास बाला जी,
श्री राम जी के दूत बड़े खास बाला जी,
तेरे दम सै चले मेरी सांस बाला जी,
तेरा सालासर दरबार तन्ने पूजे यो संसार,
तेरी गूंजे जय जयकार मन्ने आच्छा लागे सै,
माता अंजनी का लाल तेरी कोई ना मिसाल,
तेरा चोला लाल लाल मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरा सालासर दरबार तन्ने पूजे यो संसार,
तेरी गूंजे जय जयकार मन्ने आच्छा लागे सै,
माता अंजनी का लाल तेरी कोई ना मिसाल,
तेरा चोला लाल लाल मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै……

मैं तो हो गया था बड़ा मजबूर बाला जी,
चरणों से हो गया था दूर बाला जी,
तेरे नाम का यो चढ़ गया सरूर बाला जी,
तेरी भक्ति से हो गया मशहूर बाला जी,
तन्ने भर दी मेरी गोज तेरी किरपा से मौज,
तेरे दर पै आना रोज मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरा सालासर दरबार तन्ने पूजे यो संसार,
तेरी गूंजे जय जयकार मन्ने आच्छा लागे सै,
माता अंजनी का लाल तेरी कोई ना मिसाल,
तेरा चोला लाल लाल मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै……

इतना तो ना था मेरा ब्योंत्त बाला जी,
मेरे अपणा ने मारी मेरे चोट बाला जी,
चूरमे का लेआया मन्ने भोग बाला जी,
तेरी घर में जलाई तेरी ज्योत बाला जी,
मेरा चालेया कारोबार जब से आया तेरे द्वार,
होया सुखी परिवार मन्ने आच्छा सै,
तेरा सालासर दरबार तन्ने पूजे यो संसार,
तेरी गूंजे जय जयकार मन्ने आच्छा लागे सै,
माता अंजनी का लाल तेरी कोई ना मिसाल,
तेरा चोला लाल लाल मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै……

तेरे ऊंचे ऊंचे देखूं जो निशान बाला जी,
दिल में जगे सै अरमान बाला जी,
तन्ने जग में करी है ऊंची शान बाला जी,
देख दुनिया बड़ी है परेशान बाला जी,
नरसी धरता तेरा ध्यान अटकी तेरे मे है जान,
मित्तल करता गुणगान मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरा सालासर दरबार तन्ने पूजे यो संसार,
तेरी गूंजे जय जयकार मन्ने आच्छा लागे सै,
माता अंजनी का लाल तेरी कोई ना मिसाल,
तेरा चोला लाल लाल मन्ने आच्छा लागे सै,
तेरे तन में है राम तेरे मन में है राम,
तन्ने कहना राम राम मन्ने आच्छा लागे सै……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह