तुम्हे कैसे मनाऊं बालाजी,
आजाओ तुम कीर्तन में,
आ जाओ तुम कीर्तन में……

जब सीता का हरण हुआ था,
जब सीता का हरण हुआ था,
तुमने पता लगाया पल भर में,
आ जाओ तुम कीर्तन में,
तुम्हे कैसे मनाऊं बालाजी,
आजाओ तुम कीर्तन में,
आ जाओ तुम कीर्तन में……

जब लक्ष्मण को बाण लगा था,
जब लक्ष्मण को बाण लगा था,
तुमने पहाड़ उठाया पल भर में,
आजाओ तुम कीर्तन में,
तुम्हे कैसे मनाऊं बालाजी,
आजाओ तुम कीर्तन में,
आ जाओ तुम कीर्तन में……

जब रावण संग हुए लड़ाई,
जब रवां संग हुए लड़ाई,
तुमने रावण मरवाया पल भर में,
आजाओ तुम कीर्तन में,
तुम्हे कैसे मनाऊं बालाजी,
आजाओ तुम कीर्तन में…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह