हार गया मैं इस दुनिया से,
अब तो बाबा गले लगा ले,
मैं चलते चलते अब थकने लगा हूँ,
मैं चलते चलते अब थकने लगा हूँ,
बांह पकड़ के मुझे चला ले,
हार गया मैं इस दुनियाँ से,
अब तो बाबा गले लगा ले…….

जग वालों ने बड़ा सताया,
श्याम तुम्हारी शरण में आया,
यार बहुत थे दिलदार बहुत थे,
तुम जैसा ना दूजा पाया,
रोते रोते हंसने लगा है,
हँसते हँसते गले लगा ले,
हार गया मैं इस दुनियाँ से,
अब तो बाबा गले लगा ले…….

दुनिया को मैं दीखता अकेला,
पर मेरे साथ है तेरा साया,
जिन पर तेरी कृपा हुई है,
वो ही समझे तेरी माया,
जग माया झूठी सारी,
जग माया से मुझे बचा ले,
हार गया मैं इस दुनियाँ से,
अब तो बाबा गले लगा ले…….

घर से चला मैं तेरे भरोसे,
संग लेकर परिवार सांवरे,
मेरे घर का बच्चा बच्चा,
करता है तुझे प्यार सांवरे,
मैं निर्धन हूँ मुरली वाले,
इस निर्धन से प्यार निभा ले,
हार गया मैं इस दुनियाँ से,
अब तो बाबा गले लगा ले……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी

संग्रह