कोई कहता है सारा ज़माना है मेरा,
कोई कहता है अपना बेगाना है मेरा,
कोई कहता कुबेर का खज़ाना है मेरा,
तेरे चरणों में, ओ बाबा खाटू में,
तेरे चरणों में अब तो ठिकाना है मेरा…..

कैसे कह के बताऊँ तूने जो भी किया है,
मैं जो खाऊं मैं जो गाऊं सब तूने ही दिया है,
ये जो गड्डियों में बाबा आना जाना है मेरा,
सब तुमसे है केवल बहाना है मेरा,
कोई कहता कुबेर का खज़ाना है मेरा,
तेरे चरणों में, ओ बाबा खाटू में,
तेरे चरणों में अब तो ठिकाना है मेरा…..

जबसे तुमसे जुड़ा हूँ मैंने हर नाता तोड़ा,
एक तेरे ही भरोसे मैंने संसार छोड़ा,
बाबा तुमसे ही उजला सवेरा है मेरा,
जबसे खाटू में डाला है अब मैंने डेरा,
कोई कहता कुबेर का खज़ाना है मेरा,
तेरे चरणों में, ओ बाबा खाटू में,
तेरे चरणों में अब तो ठिकाना है मेरा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह