दीवाना हु तेरा कान्हा,
मुझे ज्यादा ना तड़पाना,
दीवाना हु तेरा कान्हा…..

कभी गोकुल में ढूँढू तुझे,
वृन्दावन में ढूँढू तुझे,
नंदगाँव में ढूँढू तुझे,
गोवर्धन में ढूँढू तुझे,
ढूँढ आया मै बरसना,
दीवाना हु तेरा कान्हा…..

अब तो कर दो दया की नजर,
ठोकरे खा रहा दर-ब-दर,
एक तेरे इस दर के सिवा,
और दुनिया में ना घर मेरा,
मुझे दर से ना ठुकराना,
मुझे दर से ना ठुकराना,
दीवाना हु तेरा कान्हा…..

हर तरह से तुम्हारे है हम,
आप मानो ना मानो भगवन,
तेरे चरणों में निकले गा दम,
आप मानो ना मानो भले,
मुझे दर से ना ठुकराना,
दीवाना हु तेरा कान्हा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह