जहां राधा नाम रसधार बहे ,वहीं रास बिहारी रहते हैं-2 ,
जहाँ हर मन-2, राधे-राधे कहे वहीं रास बिहारी रहते हैं।

है राधा रानी के वश में ,जग को नाच नचाये जो -2
ब्रज रानी का मान के कहना ,गोपी भी बन जाए वो ,
नाम जहां सुनले राधे का-2 ,सबको वहीं नचाये वो ,
जहां बात हो राधेरानी की ,ब्रजरानी की ,महारानी की ,
वहीं श्याम मिले सब कहते हैं।
जहां राधा नाम रसधार बहे ,वहीं रास बिहारी रहते हैं।

नटखट नंदकिशोर से पूछो,ब्रजनंदन चितचोर से पूछो -2
कैसे चुराया दिल राधे ने ,उस माखन के चोर से पूछो ,
ये कारो मतवारो कान्हा -2 ,राधा रस में रंग गयो रे ,
जहां चर्चा हो -3,ब्रजरानी की, बरसाने की,महारानी की ,
वहीं श्री गिरिधारी रहते हैं।
जहां राधा नाम रसधार बहे ,वहीं रास बिहारी रहते हैं।

वहीं रास बिहारी रहते हैं-3
जहाँ हर मन राधे राधे कहे ,वहीं रास बिहारी रहते हैं -2
जहां राधा नाम रसधार बहे ,वहीं रास बिहारी रहते हैं -2

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह