श्री हरिदास
मेरे बांकें बिहारी लाल,ना डालो इतना रंग गुलाल
मैं रंग में रंग जाऊंगी(मेरे कान्हां) -2
मेरे बांकें……..

टिका तो मेरा भीग गया है,मेरी बिंदिया हो गई लाल, ‌
ना डालो इतना रंग गुलाल,मैं रंग में रंग,
जाऊंगी(मेरे कान्हां)-2
मेरे बांकें……..

माला तो मेरी भीग गई है,मेरा झुमंका हो गया लाल,
ना डालो इतना रंग गुलाल,मैं रंग में रंग,
जाऊंगी(मेरे कान्हां) -2
मेरे बांकें…….

चुड़ी तो मेरी भीग गई है,मेरी महंदी हो गई लाल,
ना डालो इतना रंग गुलाल,मैं रंग में रंग,
जाऊंगी(मेरे कान्हां) -2
मेरे बांकें….

4.लहंगा तो मेरा भीग गया है,मेरी चुनंरी हो गई लालन,
ना डालो इतना रंग गुलाल,मैं रंग में रंग,
जाऊंगी(मेरे कान्हां) -2

मेरे बांकें बिहारी लाल,ना डालो इतना रंग गुलाल,
मैं रंग में रंग जाऊंगी मैं रंग में रंग जाऊंगा ।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह