नैनो में चले आओ,
श्याम दर्शन दिखाने को,
मेरे दिल में समा जाओ,
लौट के फिर ना जाने को…..

देखा है निगाहों ने,
जन्मो से तेरा रास्ता,
तेरे मिलने की चाहत में,
कभी रोता कभी हसता,
मालिक तेरे मंदिर में,
आज आजा तू मिलने को,
छोड़ के फिर ना जाने को,
नैनो में चले आओ,
श्याम दर्शन दिखाने को…….

मिल जाते अगर मोहन,
मेरी इस जिंदगानी में,
मेरा जीवन सफल होता,
तेरी इस मेहरबानी से,
तेरे चरणों में रहना है,
तेरे चरणों में रहना है,
छोड़कर इस ज़माने को,
नैनो में चले आओ,
श्याम दर्शन दिखाने को……

विनती है यही मेरी,
दिनों पे दया करना,
भगवान मेरे बन कर,
ह्रदय में रहा करना,
मन के मंदिर में तुम आओ,
लौट के फिर ना जाने को,
नैनो में चले आओ,
श्याम दर्शन दिखाने को……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह