मैनु बहुता न सताओ तुसी,
एैवें चकरां च न पाओ तुसी
दुनिया तो मैं कुछ नहीं लेना
मेरा दिल ही बावरा यही
नी मैं यार दी दीवानी,
मेरा यार सांवरा है

तेरे दर ते आवा मैं
झोली भर ले जावा मैं
ऐथों गया न कोई खली ए
जेहड़ा बन के आया सवाली ए
बेड़िया सब दिया पार तू लावें
की जाना माजरा ए,
नी मैं यार दी दीवानी…

तू मोहन बंसी वाला है
तकदीरां बदलन वाला है
तेरा सोहना मुखड़ा हसदा है
तू सब दे दिला च वसदा है
साड़ी दुनिया तेरी दीवानी
तू राधा डा बावरा है
नी मैं यार दी दीवानी…

तेरे दर ते अलख जगावा मैं
नाले मीरा वांगु गावां मैं
छोड़ दुनिया के जंजाल सारे
तेरे चरनी लग बैह जावा मैं
सावरी सूरत देख देख के
दिल हुआ बावरा यह
नी मैं यार दी दीवानी…

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह