जो तू मिटाना चाहे जीवन की तृष्णा,
सुबह शाम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा…..

कृष्ण नाम पावन पावन कृष्ण नाम प्यारा प्यारा,
जो ना बोले कृष्णा कृष्णा जग से ओ हारा हारा,
मन का मिटे अंधियारा बोल कृष्णा कृष्णा,
सुबह शाम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा…..

जिसको मिली ना पीड़ा सुख का मरम क्या जाने,
जो न ध्यावे कृष्णा कृष्णा निज का धरम क्या जाने,
चाहे अगर हो उजियारा बोल कृष्णा कृष्णा,
सुबह शाम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा…..

छोड़ दे भटकना दरदर तोड़ दे अहम का डेरा,
भूल जा जगत के वैभव जग है दुःख का डेरा,
फिरता है मारा मारा बोल कृष्णा कृष्णा,
सुबह शाम बोल बन्दे कृष्णा कृष्णा कृष्णा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह