तेरी उमरां दी खैर मनावां के दिल विच तूं वसदा,
तेरा पल पल शुक्र मनावां के दिल विच तूं वसदा……

प्यार तेरे ने साडी दुनिया भुलाई,
तेरे वाजो श्याम साडी किते ना सुनाई,
तेरे चरणां दे नाल लग जामां के दिल विच तूं वसदा,
तेरी उमरां दी खैर……

चंन जेहे मुखड़े तो वारी वारी जादी आं,
खैरां मंगा तेरियां मैं ऐहो कुछ चाहनी आं,
तेरे चरणां च मर मिट जामां के दिल विच तूं वसदा,
तेरी उमरां दी खैर……

प्यारी-प्यारी अंखियां च तूं ही समाया है,
जेहड़े पासे देखां मैनु तूं ही नज़र आया है,
हर वेले तेरा दर्शन पामां के दिल विच तूं वसदा,
तेरी उमरां दी खैर……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह