खोल आडो खोल मारी, घाटा री चामुंडा ये,
आयोडा भगता ने दरसन देवो मारी जोग माया ये,
खोल आडो खोल मारी…..

घाटा पे बिराजी चामुंडा, ज्योत थारी जागी,
ढोल ने ढम काढ़े जाग जाओ मारी जोगमाया ये,
खोल आडो खोल मारी…..

सिंह चढ़ी माँ आवो ये भवानी, संग में भेरू लावो ये,
धुप ने धुवाडे हेलो देऊ मारी जोग माया ये,
खोल आडो खोल मारी…..

रात दिन थारी करू ये चाकरी, घाटा री धणियाणी ये,
एक आस बंधावे ,जागण देऊ मारी जोग माया ये,
खोल आडो खोल मारी…..

घाटा री चामुंडा मावड़ी, हेले बेगि आजे ये,
धरम तंवर थाने अरज करे, भगता री आस बंधा जे ये,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह