मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए,
भगता दे भंडार भवानी भरदी ए,
मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए…….

हे अष्ट भुजा माँ अम्बे हे ऊँचेया मंदिरा वाली,
हे मैया आदकुवारी जय हो ज्वाला महाकाली,
रूप कई, रूप कई, रूप कई धरदी ए,
भगता दे भंडार भवानी भरदी ए,
मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए……

ऐसे दी महिमा गा गा ब्रहमा ने वेद बनाये,
शिव शंकर इंद्र विष्णु सब ऐसे ने उपजाये,
ओ रक्षा, ओ रक्षा, ओ रक्षा करदी ए,
भगता दे भंडार भवानी भरदी ए,
मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए……

दुखिया दे दुख मिट जांदे,
जय जय, जय माता दी कहके,
सच जानो पौणावाली मईया दा ही ना लैके,
ओ दुनिया, ओ दुनिया, ओ दुनिया डरदी ए,
भगता दे भंडार भवानी भरदी ए,
मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए……

ए दुष्ट संघारन वाली ऐ ते खंडे नु हथ पावे,
ए पृथ्वी थर थर कम्मे तद परले ही हो जाए,
जदो ए, जदो ए, जदो ए लड़दी ए,
भगता दे भंडार भवानी भरदी ए,
मेरी दाती दया हर इक ते करदी ए……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह