शिव की जटा से निकली गंगा,
उसमें नहावे दुर्गे मात मैया का जवाब नहीं…..

माथे का टीका मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

माथे की बिंदी मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

गले का हारवा मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

कमर की तगड़ी मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

पैरो की पायल मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

तन की साड़ी मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

भोग के छोले मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

हम भगतो को मैया आप समारो,
आप समारो मैया खुद ही समारो,
कहीं लहरों में बह ना जाए मैया का जवाब नहीं,
शिव की जटा से निकली गंगा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह