तेरी बिगड़ी बन जायेगी तू जय माता दी बोल,
जय माता दी बोल प्यारे क्या लागे तेरा मोल,
तेरी बिगड़ी बन जायेगी…….

मैया जी का नाम प्यारे जिसने प्रेम से गाया,
उसको ही माँ जगदम्बे ने अपने धाम बुलाया,
तुझको मुक्ति मिल जायेगी तू जय माता दी बोल,
जय माता दी बोल प्यारे क्या लागे तेरा मोल,
तेरी बिगड़ी बन जायेगी…….

कमां-कमां के दौलत तुने भर ली खूब तिंजौरी,
भूल गया तू मिली थी तुझको अायु बहुत ही थोड़ी,
माया काम नही आयगीे तू जय माता दी बोल,
तू जय माता दी बोल प्यारे क्या लागे तेरा मोल,
तेरी बिगड़ी बन जायेगी……

पाँच तत्व से बनी है मिलकर तेरी सुन्दर काया,
विषय भोग मे पड़ कर तूने इसको खूब गवाया,
काया मिट्टी मे मिल जायेगी तू जय माता दी बोल,
जय माता दी बोल प्यारे क्या लागे तेरा मोल,
तेरी बिगड़ी बन जायेगी…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह