राम का नाम दवाई है मेरे सतगुरु ने बताई है…..

पी गए हनुमान बलशाली,
तागत आ गई उनमें भारी,
सीना फार दिखाई है मेरे सतगुरु ने बताई है….

पी गए नरसी भगत मुस्काके,
भात भर दिया पल भर में आके,
माया खुब लुटाई है मेरे सतगुरु ने बताई है…..

द्रोपति नारी बहुत सताई,
आ गए कृष्ण बने सहाई,
साड़ी खूब बढाई है मेरे सतगुरु ने बताई है…..

जहर के प्याले जब भिजवाई,
हंसकर पी गई मीराबाई,
प्याले में दिखे कन्हाई है मेरे सतगुरु ने बताई है……

पी गए भगत सभी मतवाले,
हरि सत्संग में कर दिए चालें,
हरि ने दरस दिखाई है मेरे सतगुरु ने बताई है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह