ओ शेरोंवाली मैया तो,
बांटे खुशियों की सौगात,
ओ बांटे खुशियों की सौगात,
मैया दिन और रात,
ओ वैष्णो रानी मैया तो,
बांटे खुशियों की सौगात…….

शेरावाली मां, मेरी जोता वाली मां,
शेरावाली मां, मेरी जोता वाली मां…….

खुला रहे दरबार हमेशा,
जगदंबा महारानी का,
ध्यान रखें पशु पक्षी मानव,
सबके दाना पानी का,
देती दसों भुजा से मां,
रोके किसकी ये औकात,
ओ अंबे रानी मैया तो,
बांटे खुशियों की सौगात,
ओ शेरो वाली मैया तो,
बांटें खुशियों की सौगात…….

जो मांगो वो मिल जाता है,
माता के दरबार से,
धरती अंबर गूंज देखो,
मैया के जय कार से,
ये तो भक्तों से करती बात,
जब जब आए नवरात्र,
अंबे रानी मैया तो,
बांटें खुशियों की सौगात,
शेरो वाली मैया तो,
बांटें खुशियों की सौगात…….

ओ पहाड़ा वाली मैया तो,
बांटें खुशियों की सौगात,
ओ शेरोंवाली मैया तो,
बांटे खुशियों की सौगात,
ओ बांटें खुशियों की सौगात,
मैया दिन और रात,
ओ वैष्णव वाली मैया तो,
बांटे खुशियों की सौगात…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह