याद शेरांवाली तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई,
आजा आजा हे महामाई दुनिया दी याद भूल गई,
याद शेरांवाली तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई…….

मन दा पंछी उड़ उड़ जावे,
विच गमा दे गोते खावे,
तेरे वाजो कौन है मेरा, पावां तेरे दर ते फेरा,
आजा हुण आजा महामाई दुनिया दी याद भूल गई,
आजा आजा हे महामाई दुनिया दी याद भूल गई,
याद शेरांवाली तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई……

ऐ जीना वी का दा जीना,
माँ दी रजा विच हरपल जीना,
तक तक राहवां थक गईया अखियाँ,
दुख दे हंजु हर पल पीवां,
लब लब हुई मैं शुदाई दुनिया दी याद भूल गई,
आजा आजा हे महामाई दुनिया दी याद भूल गई,
याद शेरांवाली तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई……

औसियां पावां खैर मनावां,
रूसी होई माँ नु किवें मैं मनावां,
ईक वारी आजा मेरीए मायें,
पलका दा मैं फर्श बिछावां,
मुड़ मुड़ याद तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई,
आजा आजा हे महामाई दुनिया दी याद भूल गई,
याद शेरांवाली तेरी आई दुनिया दी याद भूल गई…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह