भोले तेरे दुलारे हैं कान्हा।
एक बार तो श्याम से मिलाना।
अब चलेगा ना कोई बहाना।
एक मुलाकात श्याम से करना।

मुझे बना दे श्याम के काबिल।
मैं गाऊँ बस राधे राधे।
मैं रंग जाऊँ श्यामल रंग में।
एक बार तो श्याम से मिला ना।

बाबा तू है भोला भंडारी।
तू भरता झोली खाली।
मैं ना मांगूँ और कुछ भी।
एक बार तो श्याम से मिलना।

तू जपे कृष्ण नाम।
कृष्ण करे तेरा ध्यान।
राधा नाम की महिमा भारी।
एक बार तो श्याम से मिला ना।

श्याम मोहिनी रूप बनायों।
तुम गोपी बन वृंदावन आयों।
बलि जाऊँ इन दोनों छवियों पे।
एक बार तो श्याम से मिला ना।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह