( वृन्दावन के वृक्ष को,
मरम ना जाने कोय,
डारि डारि पर पात पात में,
श्री राधे श्यामा होय॥ )

गजब कर डारो री,
जा काली काँवर वारे ने,
काली काँवर वारे ने,
पिली पीताम्बर वारे ने,
गजब कर डारो री,
जा काली काँवर वारे ने…….

मन मोह लियो हँस हँस वाले,
चुनरिया पकड़ पकड़ ताने,
नैनो से जादू डारो रे,
जा काली काँवर वारे ने,
काली काँवर वारे ने,
पिली पीताम्बर वारे ने,
गजब कर डारो री,
जा काली काँवर वारे ने…..

जमुना तट रास रचावे,
मुरली की तान सुनावे रे,
भक्तन को आन उबारो रे,
जा काली काँवर वारे ने,
काली काँवर वारे ने,
पिली पीताम्बर वारे ने,
गजब कर डारो रे,
जा काली काँवर वारे ने……

निंदिया ना श्याम बिना आती,
राधा ललिता भेजत पाती,
उद्धव ने दियो सहारो रे,
जा काली काँवर वारे ने,
काली काँवर वारे ने,
पिली पीताम्बर वारे ने,
गजब कर डारो रे,
जा काली काँवर वारे ने…….

गोकुल में धूम मचावे रे,
संग राधा रास रचावे रे,
छोटो सो पवन को थारो रे,
जा काली काँवर वारे ने,
काली काँवर वारे ने,
पिली पीताम्बर वारे ने,
गजब कर डारो रे,
जा काली काँवर वारे ने……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह