मैंने ओढ़ी चुनरिया श्याम तेरे नाम की,
तेरे नाम की श्याम तेरे नाम की,
मैंने ओढ़ी चुनरिया श्याम तेरे नाम की…..

पहला रंग रंग दे मेरे कान्हा पहला रंग रंग दे,
काम क्रोध और लोभ मोह है वह हमसे दूर हो जाए,
सोना चांदी हीरा मोती मन मेरा भटक ना पाए,
होश रहे ना मुझको कान्हा, सुबह शाम की,
मैंने ओढ़ी चुनरिया श्याम तेरे नाम की…..

दूजा रंग रंग दे मेरे कान्हा दूजा रंग रंग दे,
दीन दुखी का साथ निभाए सबको गले लगाएं,
भक्ति भाव में लगा रहे मन, ऐसे हम बन जाएं,
लगी रहे यह रटना मन में श्याम नाम की,
मैंने ओढ़ी चुनरिया श्याम तेरे नाम की……

तीजा रंग रंग दे मेरे कान्हा तीजा रंग रंग दे,
वह रसना मिल जाए भक्ति में जो मांगे सो पाए,
ऐसा भाग बदल दे कान्हा जन्म सफल हो जाए,
फिर मिल जाए मुक्ति मुझको स्वर्ग धाम की,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह