मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो,
मत डारो रेे रंग मत डारो,
मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो…..

घर जाऊं तो मेरी सांस लड़ेगी,
एक बात की लाख करेगी,
मेरे सैयां करेंगे तकरार, श्याम रंग मत डारो,
मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो…..

ननंद लड़ेगी मेरी लड़ेगी जेठानी,
खूब करेगी मेरी खींचातानी,
मेरी चुनरी भई तार तार श्याम रंग मत डारो,
मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो…..

सखी सहेली मेरी मोह रोज चिड़ावे,
कस कस के मोह ताने मारे,
मेरे कर देंगे हाल बुरा हाल श्याम रंग मत डारो,
मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो…..

आज छोड़ दे कल आऊंगी,
तेरे संग होली खेलूंगी,
यह होली रहेगी उधार श्याम रंग मत डारो,
मेरा कजरा बह बह जाए श्याम रंग मत डारो…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह