जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है……

मेरी नैया चलती है पतवार नहीं चलती,
मैया तेरे बिना मुझे तकरार आती है,
मेरा काम पड़े जब भी माँ दौड़ी आती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है…….

दुख में जो याद करे दुःख हल्का हो जाए,
जो माँ से प्यार करे माँ उसकी हो जाये,
बिन बोले दुखो को माँ पहचान जाती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है…….

इतनी बड़ी होकर भी दुखियों से प्यार करे,
चाहे छोटा हो या बड़ा सबको स्वीकार करे,
अपने भक्तो का कहना माँ मान जाती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है……

आओ सब मिलकर के मैया को याद करे,
मैया को याद करें दिल से फरियाद करे,
अपने भक्तों के दिल भी माँ जान जाती है,
मेरे दुःख के दिनों में वो बड़ा काम आती है,
जब कोई नहीं आता मेरी मईया आती है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह