माँ वैष्णो रानी आ गयी तारेयां दिया छावां,
माँ ज्वाला देवी आ गयी तारेयां दिया छावां,
माँ नैना देवी आ गयी तारेयां दिया छावां,
मै सुनिया माँ पैदल आना……..
माँ शेर सवारी आ गयी तारेयां,
माँ वैष्णो……..

भगतां दा घर है पूछदी,
माँ साड्डे घर वी आ गयी तारेयां,
माँ वैष्णो……..

मै सुनिया माँ चुप्पी आउना
माँ नगड़ाईया दे नाल आ गयी तारेयां…….
माँ वैष्णो……….।

मैं सुनिया माँ कल्ली आना,
माँ भैरों दे नाल आ गयी तारेयां,
माँ वैष्णो……….।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह