मैया दे द्वारे जाना सज धज के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
सारेया ने, सारेया ने, सारेया ने भगत प्यारेया ने,
मैया दे द्वारे जाना सज धज के……

माँ मेरी दा रूप निराला,
दर्शन करदा भागा वाला,
माँ नु मनाऊणा अज नच-नच के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
मैया दे द्वारे जाना सज धज के……

भगता दे नाल असी वी जाणा,
माँ अम्बे दा दर्शन पाणा,
दर्श दिखावे माँ हंस-हंस के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
मैया दे द्वारे जाना सज धज के……

चेत महीने लगदा मेला,
संगता दा वेखो लगदा रेला,
मैया दे द्वारे जाणा भज भज के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
मैया दे द्वारे जाना सज धज के……

विच पहाड़ा मंदिर बनाया,
विच गुफा दा डेरा लाया,
गाउंदे ने भेंटा सारे गज वज के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
मैया दे द्वारे जाना सज धज के….

भगत वी सारे भेंटा गाउंदे,
नच-नच के ओ माँ नु मनाऊँदे,
ताली वी ना थकदी ए वज-वज के,
दर्शन पाउंणा माँ दा रज रज के,
मैया दे द्वारे जाना सज धज……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह