हमको ये तो बता दो ओ मैया,
तेरा जलवा कहा पे नही है……

लोग पिते है पी पी के गिरते,
हम पीते है फिर भी ना गिरते,
हम तो पीते है सत्संग का प्याला,
कोई अंगूरी की मदिरा नही है,
हमको ये तो बता दो ओ मैया,
तेरा जलवा कहा पे नही है……

लोग खाते है खा खा के सोते,
हम तो खाते है फिर भी ना सोते,
हम तो खाते है हल्वा और पूरी,
कोई इडलि या ढोसा नही है,
हमको ये तो बता दो ओ मैया,
तेरा जलवा कहा पे नही है……

आँख वालो ने तुम को देखा,
कान वालो ने तुमको सुना है,
तुमको देखा नही उसी ने,
जिसकी आँखों पे पर्दा पड़ा है,
हमको ये तो बता दो ओ मैया,
तेरा जलवा कहा पे नही है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह