यह तो सारे रंग बेकार मेरी मां का रंग बड़ो प्यारो लगे…..

काले रंग के भोले शंकर,
इनकी जटा में गंगा की धार मेरी मां,
कारो रंग बड़ो प्यारो लगे…..

काले रंग के रामचंद्र हैं,
जिसने बन में ताड़का मारी मेरी मां,
कारो रंग बड़ो प्यारो लगे….

काले रंग की काली मैया,
जिसने द्वापर में खप्पर भर आयो मेरी मां,
कारो रंग बड़ो प्यारो लगे…..

काले रंग के कृष्ण कन्हैया,
जिसने वृंदावन रास रचाए ओ मेरी मां,
कारो रंग बड़ो प्यारो लगे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह